जिहाद से दूरी

इमाम सुयूती लिखते हैं की इमाम तबरानी ने हज़रते अबु बक्र सिद्दीक रदिअल्लाहु त'आला अन्हु से रिवायत किया है कि जो क़ौम जिहाद को तर्क कर देती है, अल्लाह उस पर अज़ाब भेजता है।

इमाम बैहक़ी ने हज़रते इब्ने उमर रदिअल्लाहु त'आला अन्हुमा से रिवायत किया है कि रसूलुल्लाह ﷺ ने फरमाया :

जब लोग दुनियादारी, माल और खेती बाड़ी में मुनहमिक हो जाएं और अल्लाह की राह में जिहाद को तर्क कर दे तो अल्लाह त'आला उन पर मुसीबते नाज़िल फरमाता है और जब तक वो अपने दीन की तरफ रुजू ना करे वो मुसीबते उन से दूर नही करता।

(در منثور، ج1، ص249 بہ حوالہ تبیان القرآن، ج1، ص763)

अब्दे मुस्तफ़ा

Post a Comment

Leave Your Precious Comment Here

Previous Post Next Post